UCC Full Form In Hindi – UCC Kya Hai जाने हिंदी मे?

UCC Full Form In Hindi – UCC Kya Hai जाने हिंदी मे?

The UCC Full FormUCC Kya Hai का हिन्दी मे मतलब समान नागरिक संहिता अथवा समान सिविल संहिता ही इसका meaning है हिन्दी में यूसीसी का मतलब, यह एक प्रकार का पंथनिरपेक्ष (सेक्युलर) कानून है जो सभी पंथ व धर्म के लोगों के लिये समान रूप से लागू होता है।

इससे यह अभिप्राय है कि UCC (Uniform Civil Code) समान नागरिक संहिता कानूनों का ऐसा समूह है जो देश के समस्त नागरिकों चाहे वह किसी भी जाति व समुदाय का हो उसे उस समान कानून का पालन करना होता है। अतः यहाँ UCC Kya Hai किसी भी पंथ, धर्म. समुदाय व जाति के सभी निजी कानूनों से ऊपर होता है।

UCC क्या होता है?

यह एक प्रकार का कानून है जो कि सभी जाति, धर्म व समुदायों के खुद के अपने कानून के ऊपर माना जाता है, अर्थात UCC (Uniform Civil Code) समान नागरिक संहिता एक प्रकार का कानून है जो कि बाहर के कई राष्ट्रों में इसको लागू किया गया है। अतः UCC Full Form In Hindi जाने।

UCC समान नागरिकता कानून के अंतर्गत क्या आता है?

इसमे यह निम्न बिन्दू है जो कि UCC (Uniform Civil Code) समान नागरिक संहिता में आती है। उचच फुल फॉर्म जाने।

  • संपत्ति के अधिग्रहण
  • व्यक्तिगत स्तर
  • तलाक, विवाह व बच्चा गोद लेना इत्यादी

इसे भी देखें – Indian Constitution In Hindi PDF

किन-किन जगहों पर UCC Kya Hai समान नागरिक संहिता कानून लागू हैं?

भारत मे यह केवल गोवा राज्या में है लागू है बाकी पूरे भारतवर्ष में यह अभी तक लागू नहीं हुआ है। यानि इसके लागू होने मे अभी और काफी समय लग सकता है।

UCC का संविधान अनुच्छेद 44

भारतीय संविधान का अनुच्छेद 44 में राज्य, भारत के समस्त राज्यक्षेत्र में रह रहे नागरिकों के लिए एक समान सिविल संहिता UCC (Uniform Civil Code) प्राप्त कराने का प्रयास करेगा। परन्तु इस कानून पर काफी समय से विवाद ही रहा है तभी यह भारत देश में अभी तक लागू नहीं हो सका है। इसके विरोध का एक ही कारण है कि यूनिफॉर्म सिविल कोड UCC ये सभी धर्मों के कानून क हटा कर संविधान के द्वारा तय किये गये कानून के आधार पर सभी धर्मो के लोगों को उसका पालन करना पड़ेगा।

समान सिविल संहिता UCC (Uniform Civil Code) क्यो आवश्यक है

UCC से सभी धर्मों के कानून एक हो जाने के बाद न्यायपालिका अपना कार्य आसानी एवं जल्दी कर सकगी। इससे लंबित पड़े मामले भी जल्द सुलझ जायेंगे। जैस- शादी, तलाक, गोद लेना और जायदाद के बंटवारे में सबके लिए एक जैसा कानून होगा तो, फिर चाहे वह किसी भी धर्म का क्यों न हो न्यायालय अपना काम जल्द कर सकेगा।

Final Words

समान कानून तो समान अधीकार तो इससे ही देश में एकता बढ़ेगी, क्योंकि अगर किसी देश में नागरिक असंतुष्ट है तो देश तरक्की उतनी तेजी से नहीं कर सकेगा जो वह कर सकता है। अतः समान कानून लागू होने से देश में एकता बढ़ेगी, देश तेजी से विकास के पथ पर बढ़ेगा।

Also See- Monitor Kya Hai

अभी फिलहाल यूसीसी के लागू करने का कुछ भी खबर नहीं है अतः जब भी ऐसी कोई न्यूज़ आती है तो मैं जरूर डालूँगा।Source- Wikipedia

Leave a Comment