SHO Full Form In Hindi - SHO के बारे मे जानें

SHO Full Form In Hindi – SHO के बारे मे जानें

नमस्कार, क्या आपको SHO के बारे मे पता है कि, SHO Kya Hota Hai? SHO Full Form क्या है? और इसी प्रकार के प्रश्न आपके मन मे जरूर उठते होंगे। तो इस वाली पोस्ट मे मै SHO संबंधि सभी जानकारी आपको इस पोस्ट मे दूंगा। कि, SHO Kaun Hota hai?, SHO Kaise Bane?, SHO Ki tayari Kaise kare? इन सभी की जानकारी मे दूंगा।

आपने हमेशा सुना होगा कि SHO का नाम, जब कभी आपको पुलिस संबंधि कोई बात-चीत की होगी या फिर कभी कोई केस संबंधि काम मे भी आपने SHO का नाम जरूर सुना होगा, पर आप मे से बहुत लोग इसके बारे मे जानते नहीं है। तो चलिए जानते है इसके बारे मे.

SHO Full Form In Hindi And English

SHO Ka Full Form In Hindi में “स्टेशन हाउस अधिकारी” है तथा SHO Full Form English में “Station House Officer” होता है। जो कि पुलिस महेकमे का एक अधिकारी होता है। जिसका काम पुलिस से संबंधि काम करना तथा कानून व्यवस्था को बनाये रखने का होता है।

एसएचओ पुलिस महेकमे का एक बहुत ही महत्वपूर्ण पद होता है। आप ये समझ लीजिए की इसे प्रदेश सरकार द्वारा मानोनीत किया जाता है। जोकि police station का in-charge होता है। चलिए SHO के बारे मे और जानते है।

SHO Full Form In Hindi

इन्हें भी पढ़ें- VPI Full Form

SHO Full Form In Hindi - SHO के बारे मे जानें
SHO Full Form In Hindi – SHO के बारे मे जानें

SHO Kya Hota Hai

जैसा मैने ऊपर बताया, SHO police station का in-charge होता है, जिसे आप पुलिस स्टेशन का ऑफिसर भी कह सकते है। यह पुल स्टेशन के सभी कार्यो की देखरेख करने का काम के साथ-साथ अपने इलाके की कानून व्यवस्था को बनाए रखने का काम करता है। SHO को उस इलाके का अधिकारी या प्रमुख माना जाता है जिस इलाके के पुलिस स्टेशन मे वह अधिकारी बन कर काम करता है।

यहाँ आप यह भी जान लीजिए की, SHO का पद सब-इंस्पेक्टर से बड़ा होता है पर पुलिस उपाधीक्षक (DSP) से इसकी रैंक कम होती है। एक SHO अधिकारी के अधीन सब-इंस्पेक्टर, हेड कांस्टेबस आदि की पूरी टीम काम करती है जो मिलकर इलाके की सुरक्षा और कानून को बनाये रखने का काम करते है। किसी भी प्रकार की कानून उथल-पुथल के लिए इन्हें ही पहले उस पर संज्ञान लेना होता है।

SHO Full Form In Hindi

एक चीज़ और है कि, अगर अदालत को कुछ भी जानना हो केस संबंधि तो वे उस इलाके के पुलिस स्टेशन के SHO को ही तलब करते है, क्योंकि केवल इन्हे ही अदालत मे उपस्थित होने का अधिकार होता है, जो किसी अन्य अधिकारी को प्राप्त नहीं है। एसएचओ का पद उप-निरीक्षक या पुलिस आयुक्त के बीच का एक पद होता है, लेकिन इसे कई अधिकर सौंपी जाती है, क्योंकि यही अपने इलाके मे मन मुताबिक कानून संबंधि काम को कर सकता है।

SHO Kaise Bane

प्रदेश सरकार द्वारा पुलिस डिपार्टमेंट मे SHO को मानोनीत किया जाता है, जोकि एक पुलिस डिपार्टमेंट का अफसर होता है। यहाँ आप यह जान लीजिए की SHO की कोई डायरेक्ट भर्ती नहीं होती है, जो लोग पहले से सब-इंस्पेक्टर के पद पर होते है। उनका ही प्रमोशन होने के बाद कोई SHO बनता है। आप यह भी जाने की इनके शोल्डर पर 3 star लगा होता है तथा बाहरी शोल्डर पर लाल और नीले रंग की स्ट्रीप रीबन लगा होता है। ये पुलिस स्टेशन के in-charge के रूप मे सरकार की सेवा करते है।

जैसा मैने Full Form Of SHO In Hindi मे बताया की इसका फुलफॉर्म स्टेशन हाउस अधिकारी है अर्थात किसी इलाके के पुलिस स्टेशन के अधिकारी से इसका तातपर्य है। तो अगर आपको स्टेशन हाउस अधिकारी बनना है तो आप सबसे पहले सब-इंस्पेक्टर(SI) बने उसके बाद ही आप SHO बन सकते है।

SHO Full Form In Hindi

इसे भी पढ़ें- 1M Means In Hindi

SHO का वेतन कितना होता है?

बहुल लोगो के मन मे यह भी प्रश्न होता है कि SHO को कितनी वेतन मिलती है, तो आपको मै बता दूं की SHO को 27000 से 1,04,400 रुपये / के बीच वेतन प्रदेश की सरकार देती है।

SHO क्या काम करता है

  • जिस इलाके के पुलिस स्टेशन का अधिकारी होता है, उस इलाके के कानून व्यवस्था को बिगड़ने नहीं देता है।
  • पुलिस स्टेशन संबंधि सभी फैसले लेने के लिए यह स्वतंत्र होता है और यह मन मुताबिक फैसले ले सकता है।
  • अदालत मे उपस्थित होने का अधिकार केवल इसी को होता है।
  • सब-इंस्पेक्टर, कांस्टेबल आदि को लेकर, अपने इलाके के घटना स्थल की जाँच करने का काम भी SHO (शो) का होता है।

निषकर्ष

तो यहाँ मैने आप लोगों को SHO Full Form In Hindi तथा SHO क्या होता है के संबंध मे सारी जानकारी दे दी है। अगर आपको इससे संबंधि कोई जानकारी न मिली हो या फिर इससे संबंधि कोई प्रश्न आपके मन मे हो तो आप नीचे कमेंट करके पूछ सकते है।

Leave a Comment